योगी सरकार 2.0 के 30 दिन: फ्री-राशन जारी रखने, लंच ब्रेक 30 मिनट करने और लाउडस्पीकर पर बड़े फैसले, 50 से ज्यादा बार चला बुलडोजर

लखनऊएक घंटा पहलेलेखक: देवांशु तिवारी

25 अप्रैल को योगी सरकार 2.0 का पहला महीना खत्म हो गया। इस दरमियान सरकार अपने मिशन 2024 के टारगेट पर एक्टिव मोड में दिखी है। इतनी फुर्ती से काम हुआ कि 31 दिनों में यूपी सरकार ने ताबड़तोड़ 10 बड़े फैसले लिए हैं। इसमें अपराधियों से 200 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई। मुफ्त राशन योजना में 3 महीने बढ़ाए गए। पुरोहित कल्याण बोर्ड का गठन और 100 दिनों में 8 हजार करोड़ का गन्ना भुगतान करने जैसे बड़े फैसले लिए गए हैं।

हमने योगी सरकार 2.0 के पहले महीने के बड़े फैसलों का रिव्यू किया है। इसके साथ-साथ इन फैसलों से 2024 के लोकसभा चुनावों पर पड़ने वाले इंपैक्ट का एनालिसिस किया है। चलिए एक-एक करके सबसे गुजरते हैं…

26 मार्च 2022: फ्री राशन योजना की डेडलाइन 3 महीने तक बढ़ाई
विधानसभा चुनाव 2022 में सीएम योगी ने सूबे की जनता को फ्री राशन की सुविधा दिए जाने का जिक्र कई मंचों से किया। इस पर उन्होंने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला लिया। योगी ने बैठक में लोगों को दी जा रही फ्री राशन योजना को 3 महीने के लिए बढ़ाने का फैसला लिया।

फ्री राशन योजना की लखनऊ में शुरुआत करते सीएम। तस्वीर दिसंबर 2021 की है।

मिशन 2024 पर असर: योगी सरकार ने 2024 तक इस योजना को 15 करोड़ लोगों तक पहुंचाने का टारगेट रखा है। ऐसे में लोकसभा चुनाव की सभी 80 सीटों पर इस सुविधा का सीधा असर पड़ेगा।

2 अप्रैल 2022: नवरात्र के पहले दिन फिर से शुरू किया एंटी रोमियो स्क्वायड योगी सरकार के पहले कार्यकाल में एंटी रोमियो स्क्वायड की शुरुआत की गई। ये स्क्वायड महिलाओं से छेड़खानी और उन्हें परेशान करने वाले शोहदों को कंट्रोल करने के लिए शुरू किया गया था। लेकिन इसे बाद में बंद कर दिया गया। सरकार ने 2 अप्रैल को नवरात्र की शुरुआत पर एंटी रोमियो स्क्वायड को शुरू करते हुए यूपी में महिला सुरक्षा के लिए 1000 पिंक बूथ बनाने का आदेश दिया।

यूपी पुलिस के मुताबिक 2 अप्रैल को फिर से शुरू हुए एंटी रोमियो स्क्वायड ने पहले हफ्ते में 160 मुकदमे दर्ज कर 440 आरोपियों को गिरफ्तार किया। फोटो: प्रतीकात्मक

यूपी पुलिस के मुताबिक 2 अप्रैल को फिर से शुरू हुए एंटी रोमियो स्क्वायड ने पहले हफ्ते में 160 मुकदमे दर्ज कर 440 आरोपियों को गिरफ्तार किया। फोटो: प्रतीकात्मक

मिशन 2024 पर असर: यूपी में करीब 7 करोड़ महिला वोटर्स हैं यानी चुनावों में 45% उनकी भागीदारी है। योगी सरकार का ये फैसला इस हिसाब से काफी अच्छा माना जा रहा है।

8 अप्रैल 2022: 31 दिनों में 50 से ज्यादा बार एक्शन में दिखा बुलडोजर
8 अप्रैल को सीएम योगी ने नगर निगम के अधिकारियों को ये निर्देश दिया था कि गरीबों और दुकानदारों के खिलाफ संपत्ति गिराने की कार्रवाई नहीं होगी। लेकिन इसके बाद योगी सरकार 2.0 में अवैध संपत्तियों से कुल 200 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है। इसमें माफिया व अपराधियों के 50 से ज्यादा अवैध ठिकानों पर बुलडोजर चलाया गया है।

नोएडा अथॉरिटी ने सेक्टर 134 के डूब क्षेत्र में बने अवैध फार्म हाउस पर बुलडोजर चलाया। तस्वीर 1 अप्रैल 2022 की है।

नोएडा अथॉरिटी ने सेक्टर 134 के डूब क्षेत्र में बने अवैध फार्म हाउस पर बुलडोजर चलाया। तस्वीर 1 अप्रैल 2022 की है।

मिशन 2024 पर असर: भूमाफिया और अपराधियों पर लगाम कसने के लिए ये फैसला काफी प्रभावी रहा। विधानसभा चुनाव की तरह ही बीजेपी के लिए लोकसभा चुनाव में भी ये बड़ा मुद्दा साबित हो सकता है।

12 अप्रैल 2022: सरकारी दफ्तरों का लंबा लंच ब्रेक 30 मिनट का किया
सीएम योगी ने टीम 9 के साथ बैठक की। इसमें सरकारी कार्यालयों में अनुशासन बनाने पर योगी सख्त दिखे। उन्होंने निर्देश दिया कि दफ्तरों में कर्मचारी समय से आएं। लंच ब्रेक आधे घंटे से ज्यादा न लें। उन्होंने कहा, “30 मिनट के लंच ब्रेक के बाद तुरंत बाद सभी को अपनी सीट पर आना होना। जो सीट पर नहीं दिखेगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी।”

12 अप्रैल 2022 को हुई टीम 9 की बैठक में सीएम योगी ने सरकारी दफ्तरों में लंच ब्रेक का टाइम 30 मिनट करने का आदेश दिया।

12 अप्रैल 2022 को हुई टीम 9 की बैठक में सीएम योगी ने सरकारी दफ्तरों में लंच ब्रेक का टाइम 30 मिनट करने का आदेश दिया।

मिशन 2024 पर असर: यूपी सरकार के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में कुछ 16 लाख राज्य कर्मचारी हैं। इतनी बड़ी संख्या में सरकारी कर्मचारी काम करेंगे, तो इसका सीधा फायदा आम जनता को होगा। लोगों का सरकार पर विश्वास बढ़ेगा।

14 अप्रैल 2022: किसानों को 8000 करोड़ का गन्ना भुगतान 100 दिन में किया जाए
सीएम योगी एग्रीकल्चर प्रोडक्शन पर के सात विभागों की 100 दिन की प्लानिंग पर प्रेजेंटेशन ली। इस दरमियान सीएम योगी ने कहा,” यूपी में साल 2021 में 1.69 करोड़ रुपए का गन्ना भुगतान किसानों को किया गया है। ये एक रिकॉर्ड पेमेंट है।” उन्होंने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिया कि अगले 100 दिनों में किसानों को 8,000 करोड़ रुपए का गन्ना भुगतान किया जाए।

ग्रीकल्चर प्रोडक्शन पर के सात विभागों की बैठक में सीएम योगी ने गन्ना भुगतान का आदेश दिया। तस्वीर 14 अप्रैल को हुई बैठक की है।

ग्रीकल्चर प्रोडक्शन पर के सात विभागों की बैठक में सीएम योगी ने गन्ना भुगतान का आदेश दिया। तस्वीर 14 अप्रैल को हुई बैठक की है।

मिशन 2024 पर असर: यूपी में करीब 45 लाख गन्ना किसान हैं। योगी सरकार के इस फैसले का असर सभी 80 सीटों पर दिखेगा।

अब

यहां तक आपने योगी सरकार 2.0 के पहले महीने में लिए गए 5 बड़े फैसलों के बारे में जाना। बाकी फैसलों पर चलने से पहले हमारे इस सवाल का जवाब दीजिए…

18 अप्रैल 2022: नए धार्मिक स्थानों पर लाउडस्पीकर और माइक लगाने पर रोक
सीएम योगी ने 18 अप्रैल को पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में उन्होंने कहा, “धार्मिक आजादी सबको है, लेकिन माइक की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए। इसलिए सरकार ने फैसला लिया है कि नए धार्मिक स्थानों पर माइक और लाउडस्पीकर लगाने की इजाजत नहीं दी जाएगी।”

गोरखनाथ मंदिर के बाहर लगे लाउड स्पीकर का मुंह 24 अप्रैल को मंदिर के अंदर कर दिया गया। मंदिर समिति का कहना है कि इससे भजनों की आवाज मंदिर से बाहर नहीं जाएगी।

गोरखनाथ मंदिर के बाहर लगे लाउड स्पीकर का मुंह 24 अप्रैल को मंदिर के अंदर कर दिया गया। मंदिर समिति का कहना है कि इससे भजनों की आवाज मंदिर से बाहर नहीं जाएगी।

मिशन 2024 पर असर: जहांगीरपुरी हिंसा के बाद यूपी में हाई अलर्ट घोषित हुआ। इसके बाद योगी ने हाई लेवल बैठक कर नए धार्मिक स्थानों पर लाउडस्पीकर और माइक लगाने पर रोक लगा दी है। इस फैसले से सभी वर्ग सहमत हैं। ऐसे में लोकसभा चुनाव में इसका अच्छा असर दिखेगा।

19 अप्रैल 2022: छह महीने में की जाए 20 हजार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की भर्ती
19 अप्रैल को योगी स्वास्थ्य विभाग का प्रेजेंटेशन देख रहे थे। इस बैठक में योगी ने कहा, “आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के 20 हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया अगले 6 महीने में पूरी कराएं। सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिलाया जाए।”

यूपी में करीब 1 लाख 87 हजार से ज्‍यादा आंगनबाड़ी केंद्र हैं। इन केंद्रों पर 1.68 करोड़ से ज्‍यादा महिलाओं, गर्भवती महिलाओं और बच्‍चों को सुविधाएं दी जाती हैं।

यूपी में करीब 1 लाख 87 हजार से ज्‍यादा आंगनबाड़ी केंद्र हैं। इन केंद्रों पर 1.68 करोड़ से ज्‍यादा महिलाओं, गर्भवती महिलाओं और बच्‍चों को सुविधाएं दी जाती हैं।

मिशन 2024 पर असर: बीते 11 साल से यूपी में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की भर्ती नहीं आई थी। इस लिहाज से ये फैसला हजारों लोगों के लिए नई उम्मीद बनकर आया है। इस फैसले से यूपी की 1.7 लाख आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का दायरा और भी ज्यादा बढ़ जाएगा, जो 2024 लोकसभा चुनाव में बीजेपी का ग्राफ बढ़ा सकता है।

20 अप्रैल 2022: गरीब परिवारों को 6 महीने में 2.51 लाख घर दिए जाएं
20 अप्रैल को सिटी डेवलपमेंट सेक्टर की बारी थी। विभाग का प्रेजेंटेशन सीएम योगी ले रहे थे। इस दौरान उन्होंने गरीब परिवारों के लिए बड़ा लिया। योगी ने कहा,”हमारी सरकार का टारगेट हर गरीब को उसका खुद का घर दिलवाना है। हमें अगले 6 महीने में 2.51 लाख नए आवास बनाने का लक्ष्य लेकर तेजी से काम करना है।”

सितंबर 2021 में 5 लाख गरीब परिवारों को सीएम योगी ने प्रधानमंत्री आवास योजना और मुख्‍यमंत्री आवास योजना में घरों की चाबी सौंपी थी। ये तस्वीर उसी दिन के कार्यक्रम की है।

सितंबर 2021 में 5 लाख गरीब परिवारों को सीएम योगी ने प्रधानमंत्री आवास योजना और मुख्‍यमंत्री आवास योजना में घरों की चाबी सौंपी थी। ये तस्वीर उसी दिन के कार्यक्रम की है।

मिशन 2024 पर असर: यूपी की 37.38% आबादी का हिस्सा गरीब है। यानी गरीब परिवारों को इस योजना में शामिल करने से भाजपा यूपी की सभी 80 सीटों पर बड़ा वोट बैंक बनाने में सफल हो सकती है।

20 अप्रैल 2022: यूपी में पुरोहित कल्याण बोर्ड के गठन को मंजूरी
सीएम योगी 20 अप्रैल को धर्मार्थ कार्य, पर्यटन और संस्कृति विभागों का प्रेजेंटेशन देख रहे थे। इस दरमियान उन्होंने विभागों के अधिकारियों को आदेश दिया, “सरकार ने बुजुर्ग संतों, पुजारियों और तीर्थ पुरोहितों के कल्याण के लिए एक बोर्ड का गठन करने का फैसला लिया है। यह बोर्ड संतों और पुजारियों के हित के लिए काम करेगा।” योगी ने इसके साथ ही सभी 75 जिलों में पर्यटन एवं संस्कृति परिषद का गठन करने के आदेश दिए।

यूपी में पुरोहित कल्याण बोर्ड की मांग शिवाकांत महाराज ने सीएम योगी से की थी।

यूपी में पुरोहित कल्याण बोर्ड की मांग शिवाकांत महाराज ने सीएम योगी से की थी।

मिशन 2024 पर असर: यूपी में पुरोहित कल्याण बोर्ड बनाना योगी सरकार 2.0 का मास्टर प्लान रहा है। इससे साल 2024 में भाजपा अपने कोर हिंदू वोटर्स को साधना चाहेगी। यूपी में हिंदू मतदाताओं का वोटिंग शेयर 80% है।

24 अप्रैल 2022: गांवों के लिए 1116 करोड़ की योजनाओं की शुरुआत
पंचायती राज दिवस पर सीएम योगी ने बुंदेलखंड के साथ यूपी की ग्राम पंचायतों के लिए 1116 करोड़ रुपए की प्रोजेक्ट शुरू किए। इसमें उन्होंने 39,000 ग्राम सचिवालयों, 2000 पब्लिक टॉयलेट, 7.10 लाख एलईडी लाइट और 16 जिला पंचायत रिसोर्स सेंटर की शुरुआत की।

जालौन के ऐरी रमपुरा ग्राम पंचायत में की गई जनचौपाल में सीएम योगी ने 1116 करोड़ की योजनाओं की शुरुआत की। ये तस्वीर उसी दिन के कार्यक्रम की है।

जालौन के ऐरी रमपुरा ग्राम पंचायत में की गई जनचौपाल में सीएम योगी ने 1116 करोड़ की योजनाओं की शुरुआत की। ये तस्वीर उसी दिन के कार्यक्रम की है।

मिशन 2024 पर असर: यूपी में कुल 58000 से ज्यादा ग्राम पंचायतें हैं। इसमें कुल 33.6 लाख वोटर हैं। गांवों के विकास पर नए प्रोजेक्ट शुरू होने से यूपी की सभी 80 सीटों पर इंपैक्ट पड़ेगा।

खबरें और भी हैं…

.