Homeप्रमुख-समाचारऐतीहासिक रामलीला स्थगित इस साल भी स्थगित: 215 साल से हो रही...

ऐतीहासिक रामलीला स्थगित इस साल भी स्थगित: 215 साल से हो रही है बनारस में विश्व प्रसिद्ध रामलीला; 8 से 14 साल तक के बच्चे सालभर प्रैक्टिस करते हैं

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • इस साल स्थगित हुई ऐतिहासिक रामलीला, 215 साल से बनारस में हो रही है विश्व प्रसिद्ध रामलीला; 8 से 14 साल के बच्चे पूरे साल अभ्यास करते हैं

वाराणसी19 मिनट पहलेलेखक: चंदन पांडेय

  • कॉपी लिंक

41 बार हनुमान बन चुके नारायण ने बताया कि यह देव लीला, आध्यात्मिक है।

उत्तर प्रदेश में वाराणसी के रामनगर की विश्व प्रसिद्ध रामलीला पिछले दो साल से स्थगित है। रामलीला से जुड़े लोगों में सरकार और प्रशासन के प्रति नाराजगी है। उनका आरोप है की कोरोना का हवाला देकर आध्यात्मिक कार्यक्रम को स्थगित किया गया है। जबकि बाकी सारे आयोजन धड़ल्ले से हो रहे हैं। रामनगर की रामलीला में 41 बार हनुमान का किरदार निभा चुके राम नारायण पांडे अब काफी वृद्ध हो गए हैं।

रामलीला स्थगित होने के कारण दुखी मन से कहते हैं कि अपने जीवन में कई उतार-चढ़ाव देखे। अंग्रेजों के शासन काल से लेकर कालरा और हैजा जैसी बीमारियों को भी देखा, लेकिन लीला कभी स्थगित नहीं हुई। तेज बारिश में भी विश्व प्रसिद्ध रामलीला जारी रही। पर अब ऐसा समय आ गया है कि दो साल से रामलीला सिर्फ रामायण पाठ और आरती तक सीमित हो गई है। रामनगर की विश्व प्रसिद्ध रामलीला आध्यात्मिक और देव लीला है। इसे रोकना ठीक नहीं।

राम नारायण पांडे ने बताया की सन 1806 में विश्व प्रसिद्ध रामलीला की शुरुआत राज परिवार ने कराई थी। इसमें कुल 28 साधारण और 5 विशिष्ट पात्र होते हैं। सन 1969 से लेकर 2010 तक लगातार हनुमान का पात्र निभाते रहे हैं। उनके घर के 8 सदस्य भी रामलीला का बड़ा हिस्सा हैं। सबसे छोटा सदस्य मयंक (8) और 14 साल के उदित मिलकर रामलीला में किरदार निभाते हैं। इसके लिए बच्चे साल भर प्रैक्टिस करते हैं।

खबरें और भी हैं…
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments