एलन मस्क का हुआ ट्विटर: वर्तमान सीईओ पराग अग्रवाल की 12 महीने में हुई छुट्टी, तो कंपनी को देनी होगी इतनी बड़ी रकम

सार

रिसर्च फर्म इक्विलर के अनुसार, ट्विटर इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पराग अग्रवाल की सोशल मीडिया कंपनी में शीर्ष स्तर पर नियंत्रण में बदलाव होने के 12 महीनों के अंदर अगर छुट्टी होती है, तो उनको करीब 42 मिलियन डॉलर यानी 3.2 अरब रुपये मिलेंगे।

ख़बर सुनें

कई दिनों से जारी ट्विटर की बिक्री की चर्चाओं पर सोमवार को आखिरकार विराम लग गया और यह माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म अब दुनिया के सबसे अमीर शख्स का हो गया। जी हां, एलन मस्क ने 44 अरब डॉलर (3 लाख 37 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा) में खरीद लिया है। इस डील के बाद अब बोर्ड में बदलाव की अटकलें तेज हो गई हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर के वर्तमान सीईओ पराग अग्रवाल की अगर छुट्टी की जाती है तो कंपनी को उन्हें भारी-भरकम रकम देनी होगी। 

3.2 अरब रुपये का करना होगा भुगतान 
रिसर्च फर्म इक्विलर के अनुसार, ट्विटर इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पराग अग्रवाल की सोशल मीडिया कंपनी में शीर्ष स्तर पर नियंत्रण में बदलाव होने के 12 महीनों के अंदर अगर छुट्टी होती है, तो उनको करीब 42 मिलियन डॉलर यानी 3.2 अरब रुपये मिलेंगे। पराग अग्रवाल कंपनी में पहले चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर थे, इसके बाद पिछले साल नवंबर माह में उन्हें कंपनी का सीईओ बनाया गया। 2021 में उनके हर्जाने की कुल कीमत 30.4 मिलियन डॉलर थी। हालांकि, ट्विटर की ओर से इसे लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। 

मस्क को नहीं मैनेजमेंट पर भरोसा
सोमवार को सुबह से ही इस बात की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया था कि टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के ट्विटर को खरीदने के प्रस्ताव पर बोर्ड गंभीरता से पुनर्विचार कर रहा है और देर रात इस पर फैसला आ गया। एलन मस्क ने खुद ट्वीट कर इस डील के पूरा होने की जानकारी साझा की। बता दें कि 14 अप्रैल को एलन मस्क ने कंपनी की बोर्ड मीटिंग में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा था कि उन्हें कंपनी के मैनेजमेंट में भरोसा नहीं है।

कई दिनों से जारी उठा-पटक बंद 
गौरतलब है कि कई दिनों की उठापटक के बाद आखिरकार ट्विटर पर दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलन मस्क का मालिकाना हक हो गया है। मस्क के ऑफर के अनुरूप उन्हें ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4148 रुपये) चुकाने होंगे। ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने सोमवार रात 12 बजे के बाद एक प्रेस रिलीज में मस्क के साथ हुई डील के बारे में जानकारी दी। इस सौदे ने टेस्ला के सीईओ को 217 मिलियन उपयोगकर्ताओं वाली कंपनी का मालिकाना हक दे दिया है।

पांच साल पुराना मस्क का ट्वीट वायरल
ट्विटर अटलांटिक के दोनों किनारों पर राजनीतिक और मीडिया एजेंडे को आकार देने में एक प्रभावशाली भूमिका निभाता है। लेन-देन को स्वीकार करने के लिए ट्विटर की शुरुआती अनिच्छा उस समय फीकी पड़ गई, जब मस्क ने सौदे के लिए एक फंडिंग पैकेज की पुष्टि की और शेयरधारकों ने गर्मजोशी से इसका स्वागत किया। यहां बता दें कि ट्विटर इंक पर मस्क के मालिकाना हक की खबर के बीच मस्क का पांच साल पुराना ट्वीट भी वायरल हो रहा है। जब उन्होंने कहा था कि मुझे ट्विटर बहुत पसंद है और फिर पूछ ली थी प्लेटफॉर्म की कीमत।

ट्विटर को बेहतर बनाना चाहते हैं मस्क
एलन मस्क ने सौदे की घोषणा करते हुए एक बयान में कहा, “बोलने की आजादी एक कामकाजी लोकतंत्र का आधार है, और ट्विटर डिजिटल टाउन स्क्वायर है जहां मानवता के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण मामलों पर बहस होती है। मैं नई सुविधाओं के साथ उत्पाद को बढ़ाकर, विश्वास बढ़ाने के लिए एल्गोरिदम को खुला स्रोत बनाकर, स्पैम बॉट्स को हराकर और सभी मनुष्यों को प्रमाणित करके ट्विटर को पहले से बेहतर बनाना चाहता हूं।” उन्होंने कहा, “ट्विटर में जबरदस्त क्षमता है। मैं कंपनी और उपयोगकर्ताओं के समुदाय के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।”

ट्विटर के शेयरों में जबरदस्त उछाल
रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार को दोनों पक्षों के बीच बातचीत होने की खबरों के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई थी कि इस पर कुछ ही पलों में बड़ा फैसला लिया जा सकता है। ट्विटर बोर्ड मस्क से और अच्छे ऑफर की उम्मीद कर रही थी। इस डील के पूरा होने की खबरों के बीच सोमवार को ट्विटर के शेयरों में जबरदस्त तेजी आई औैर यह 5.5 फीसदी की तेजी के साथ 51.60 डॉलर पर बंद हुआ था। लेकिन वह अभी भी मस्क के ऑफर प्राइस से नीचे था।

जैक डोर्सी को सीईओ बनाने की उठी मांग
एलन मस्क के ट्टिवटर को खरीदने के बाद सोशल मीडिया पर ट्विटर के को-फाउंडर और पूर्व सीईओ जैक डोर्सी को वापस लाने की मांग जोर पकड़ रही है। इस बीच इस सौदे पर जैक की ओर से भी प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा है कि अगर कंपनी के सपने को कोई साकार कर सकता है तो वह एलन मस्क ही हैं। इसके साथ ही जैक ने कहा कि मेरे लिए हमेशा आइडिया और सर्विस दो महत्वपूर्ण सेक्टर रहे हैं और में इनके लिए मैं हमेशा तैयार हूं। 

विस्तार

कई दिनों से जारी ट्विटर की बिक्री की चर्चाओं पर सोमवार को आखिरकार विराम लग गया और यह माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म अब दुनिया के सबसे अमीर शख्स का हो गया। जी हां, एलन मस्क ने 44 अरब डॉलर (3 लाख 37 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा) में खरीद लिया है। इस डील के बाद अब बोर्ड में बदलाव की अटकलें तेज हो गई हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर के वर्तमान सीईओ पराग अग्रवाल की अगर छुट्टी की जाती है तो कंपनी को उन्हें भारी-भरकम रकम देनी होगी।

3.2 अरब रुपये का करना होगा भुगतान 

रिसर्च फर्म इक्विलर के अनुसार, ट्विटर इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पराग अग्रवाल की सोशल मीडिया कंपनी में शीर्ष स्तर पर नियंत्रण में बदलाव होने के 12 महीनों के अंदर अगर छुट्टी होती है, तो उनको करीब 42 मिलियन डॉलर यानी 3.2 अरब रुपये मिलेंगे। पराग अग्रवाल कंपनी में पहले चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर थे, इसके बाद पिछले साल नवंबर माह में उन्हें कंपनी का सीईओ बनाया गया। 2021 में उनके हर्जाने की कुल कीमत 30.4 मिलियन डॉलर थी। हालांकि, ट्विटर की ओर से इसे लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

मस्क को नहीं मैनेजमेंट पर भरोसा

सोमवार को सुबह से ही इस बात की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया था कि टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के ट्विटर को खरीदने के प्रस्ताव पर बोर्ड गंभीरता से पुनर्विचार कर रहा है और देर रात इस पर फैसला आ गया। एलन मस्क ने खुद ट्वीट कर इस डील के पूरा होने की जानकारी साझा की। बता दें कि 14 अप्रैल को एलन मस्क ने कंपनी की बोर्ड मीटिंग में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा था कि उन्हें कंपनी के मैनेजमेंट में भरोसा नहीं है।

कई दिनों से जारी उठा-पटक बंद 

गौरतलब है कि कई दिनों की उठापटक के बाद आखिरकार ट्विटर पर दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलन मस्क का मालिकाना हक हो गया है। मस्क के ऑफर के अनुरूप उन्हें ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4148 रुपये) चुकाने होंगे। ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने सोमवार रात 12 बजे के बाद एक प्रेस रिलीज में मस्क के साथ हुई डील के बारे में जानकारी दी। इस सौदे ने टेस्ला के सीईओ को 217 मिलियन उपयोगकर्ताओं वाली कंपनी का मालिकाना हक दे दिया है।

पांच साल पुराना मस्क का ट्वीट वायरल
ट्विटर अटलांटिक के दोनों किनारों पर राजनीतिक और मीडिया एजेंडे को आकार देने में एक प्रभावशाली भूमिका निभाता है। लेन-देन को स्वीकार करने के लिए ट्विटर की शुरुआती अनिच्छा उस समय फीकी पड़ गई, जब मस्क ने सौदे के लिए एक फंडिंग पैकेज की पुष्टि की और शेयरधारकों ने गर्मजोशी से इसका स्वागत किया। यहां बता दें कि ट्विटर इंक पर मस्क के मालिकाना हक की खबर के बीच मस्क का पांच साल पुराना ट्वीट भी वायरल हो रहा है। जब उन्होंने कहा था कि मुझे ट्विटर बहुत पसंद है और फिर पूछ ली थी प्लेटफॉर्म की कीमत।

ट्विटर को बेहतर बनाना चाहते हैं मस्क

एलन मस्क ने सौदे की घोषणा करते हुए एक बयान में कहा, “बोलने की आजादी एक कामकाजी लोकतंत्र का आधार है, और ट्विटर डिजिटल टाउन स्क्वायर है जहां मानवता के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण मामलों पर बहस होती है। मैं नई सुविधाओं के साथ उत्पाद को बढ़ाकर, विश्वास बढ़ाने के लिए एल्गोरिदम को खुला स्रोत बनाकर, स्पैम बॉट्स को हराकर और सभी मनुष्यों को प्रमाणित करके ट्विटर को पहले से बेहतर बनाना चाहता हूं।” उन्होंने कहा, “ट्विटर में जबरदस्त क्षमता है। मैं कंपनी और उपयोगकर्ताओं के समुदाय के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।”

ट्विटर के शेयरों में जबरदस्त उछाल

रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार को दोनों पक्षों के बीच बातचीत होने की खबरों के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई थी कि इस पर कुछ ही पलों में बड़ा फैसला लिया जा सकता है। ट्विटर बोर्ड मस्क से और अच्छे ऑफर की उम्मीद कर रही थी। इस डील के पूरा होने की खबरों के बीच सोमवार को ट्विटर के शेयरों में जबरदस्त तेजी आई औैर यह 5.5 फीसदी की तेजी के साथ 51.60 डॉलर पर बंद हुआ था। लेकिन वह अभी भी मस्क के ऑफर प्राइस से नीचे था।

जैक डोर्सी को सीईओ बनाने की उठी मांग

एलन मस्क के ट्टिवटर को खरीदने के बाद सोशल मीडिया पर ट्विटर के को-फाउंडर और पूर्व सीईओ जैक डोर्सी को वापस लाने की मांग जोर पकड़ रही है। इस बीच इस सौदे पर जैक की ओर से भी प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा है कि अगर कंपनी के सपने को कोई साकार कर सकता है तो वह एलन मस्क ही हैं। इसके साथ ही जैक ने कहा कि मेरे लिए हमेशा आइडिया और सर्विस दो महत्वपूर्ण सेक्टर रहे हैं और में इनके लिए मैं हमेशा तैयार हूं।

.