अमृतसर पुलिस की जांच में शामिल हुई मकवाना: ADCP आहलूवालिया बोलीं- ऑनलाइन बयान भेज दिया, जांच के बाद होगी गिरफ्तारी – Amritsar News

अर्चना की अलग-अलग तस्वीरें। (फाइल तस्वीर)

गोल्डन टेंपल में योग करने वाली सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर अर्चना मकवाना को पंजाब पुलिस की तरफ से जांच में शामिल होने का नोटिस पीरियड दिया गया था। आज मकवाना जांच में शामिल हो गई हैं। उन्होंने ऑनलाइन अपनी स्टेटमेंट भेजी है।

.

अर्चना की स्टेटमेंट सावर्जनिक नहीं कर सकते

जानकारी देते हुए एडीसीपी दर्पन आहलूवालिया ने कहा कि 7 साल से कम जिस केस में सजा होती है उसे जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा जाता है। आज अर्चना जांच में शामिल हो गई हैं। उन्होंने अपनी ऑनलाइन स्टेटमेंट भेजी है। ये केस थाना कोतवाली का है। स्टेटमेंट में उसने क्या कहा है यह अभी सार्वजनिक रूप से नहीं बताया जा सकता। इस मामले की गहराई से जांच की जा रही है। यदि अर्चना कसूरवार हुई तो उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ADCP दर्पण आहलूवालिया जानकारी देती।

26 जून को भेजा था नोटिस
बता दें कि अर्चना मकवाना को एक सप्ताह पहले 26 जून को अमृतसर पुलिस की तरफ से नोटिस भेजा गया था। जिसमें उसे अमृतसर पुलिस के समक्ष रविवार 30 जून को पेश होकर अपना पक्ष रखना था लेकिन वह नहीं आई थी। इसके बाद 10 जुलाई को उसने अपना पक्ष रखा है।

21 मई को सोशल मीडिया पर डाली फोटो

दरअसल, अर्चना मकवाना ने योग दिवस (21 मई) के दिन गोल्डन टेंपल की परिक्रमा में योग करते हुए तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी। अर्चना मकवाना ने सोशल मीडिया पर 2 तस्वीरें पोस्ट कीं। इनमें वह ध्यान और शीर्षासन करते नजर आ रही हैं। यह योगासन उन्होंने गोल्डन टेंपल की परिक्रमा में किए।

जिसके बार ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं और SGPC की तरफ से उसके खिलाफ FIR दर्ज करवा दी गई। FIR में गोल्डन टेंपल के जनरल मैनेजर भगवंत सिंह ने लिखवाया है कि 22 जून 2024 को हम अपनी ड्यूटी पर मौजूद थे कि यूट्यूब और इंस्टाग्राम पर एक वीडियो वायरल की गई है।

इसमें अर्चना मकवाना श्री दरबार साहिब की परिक्रमा में शहीद बाबा दीप सिंह जी के स्थान के पास जगह पर ऐतराज योग्य फोटो खींची और जानबूझ कर वायरल कर रही है। इससे सिख भावनाओं को ठेस पहुंची है।

5 सेकेंड में ही किए योगासन

गोल्डन टेंपल के जनरल मैनेजर भगवंत सिंह ने बताया कि CCTV कैमरों की जांच से पता चला कि युवती ने योग करने की हरकत केवल 5 सेकेंड में ही पूरी कर डाली। इस दौरान 3 सुरक्षाकर्मी वहां ड्यूटी पर थे। शुरुआती जांच के बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है, जबकि एक कर्मचारी को 5 हजार रुपए जुर्माना कर गुरुद्वारा गढ़ी साहिब गुरदास नंगल में ट्रांसफर कर दिया गया है।