अखिलेश के आजमगढ़ में शाह: गृहमंत्री बोले- पूर्वांचल को मच्छर और माफिया दोनों से मुक्त किया, परिवारवाद पर विराम लगाया

0
3

आजमगढ़4 घंटे पहले

अमित शाह ने आजमगढ़ में बन रही यूनिवर्सिटी का नाम महाराजा सुहेलदेव के नाम पर रखने का भी सुझाव दिया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के गढ़ आजमगढ़ पहुंचे। यहां उनके निशाने पर समाजवादी पार्टी ही रही। शाह ने कहा कि मैं अखिलेश जी से एक बात कहते हुए योगी सरकार को एक सर्टिफिकेट देकर जाना चाहता हूं। उन्होंने पूर्वांचल को मच्छर और माफिया दोनों से मुक्त कर दिया है। यहां आप (अखिलेश) सफाई भी नहीं करते थे, मच्छरों का राज था। पूरे पूर्वांचल में दिमागी बुखार से बच्चे मर रहे थे। मोदी के स्वच्छता अभियान को योगी सरकार ने जमीन पर उतारा और मच्छर मुक्त पूर्वांचल बना दिया। आजमगढ़ की सभी विधानसभा सीटों पर इस बार कमल खिलने वाला है।

शाह ने आगे कहा कि जिस आजमगढ़ को सपा के शासनकाल में कट्टरवादी सोच और आतंकवाद के पनाहगाह के रूप में जाना जाता था। उसी भूमि पर मां सरस्वती का धाम बन रहा है। यह बाबा विश्वनाथ की भूमि है, प्रभु श्री राम, संत कबीर, गुरु गोरखनाथ की भूमि है। यहां मां सरस्वती का मंदिर बनने जा रहा है। यह बदलाव की शुरुआत है। जिस आजमगढ़ को देश विरोधी गतिविधियों का अड्डा बनाकर रखा था, उसी आजमगढ़ से आज युवा पढ़-लिखकर देश के विकास में लगे हैं।

अमित शाह ने अपने भाषण में सपा और अखिलेश यादव को ही निशाने पर रखा।

अमित शाह ने अपने भाषण में सपा और अखिलेश यादव को ही निशाने पर रखा।

‘अखिलेश जी को जिन्ना बहुत महान दिखने लगे हैं’
शाह ने कहा कि मोदी JAM लेकर आए हैं। इसका अर्थ है। J- जन धन बैंक खाते, A- आधार कार्ड, M- हर आदमी को मोबाइल। वहीं, सपा के लिए JAM का अर्थ है, J से जिन्ना, A से आजम खान और M से मुख्तार। जैसे ही चुनाव आता है, वे लोगों को जात-पात में बांटने, दंगे कराना, तुष्टीकरण करना और वोट बैंक की राजनीति करने में लग जाते हैं। अखिलेश जी को जिन्ना बहुत महान दिखने लगे हैं।

जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण पर विराम लगा
शाह ने कहा कि यहां पर पहले जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण का राज चलता था। सबको न्याय नहीं मिलता था। आज योगी ने जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण पर पूर्ण विराम लगाने का काम किया है। 2017 से पहले उत्तर प्रदेश देश की छठवीं अर्थव्यवस्था थी। आज यह दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

प्रदेश की GDP 10.90 लाख करोड़ थी, आज 21.31 लाख करोड़ है। उत्तर प्रदेश को माफियाराज से मुक्ति दिलाने का काम योगी सरकार ने किया है। आजमगढ़ इसका उदाहरण है। कैराना से लोग पलायन कर रहे थे, बेटियों की पढ़ाई नहीं हो पाती थी। आज माफिया यूपी छोड़कर चले गए हैं। अब यहां कानून का राज है।

शाह ने आजमगढ़ में स्टेट यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

शाह ने आजमगढ़ में स्टेट यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

महाराजा सुहेलदेव के नाम पर यूनिवर्सिटी
शाह ने आजमगढ़ में स्टेट यूनिवर्सिटी का शिलान्यास करते हुए कहा कि मेरा सुझाव है कि इस यूनिवर्सिटी का नाम महाराजा सुहेलदेव के नाम पर रखा जाए। आतंकवाद के खिलाफ लड़कर देश को आक्रांताओं से बचाने का काम सुहेलदेव जी ने किया था।

नई शिक्षा नीति को यूपी की भूमि पर उतारने का काम योगी कर रहे
शाह ने बताया कि 2017 में बनाए गए घोषणा पत्र में 10 नई यूनिवर्सिटी बनाने की बात कही गई थी, जो काम आज पूरा हो गया। नए-नए शिक्षा संस्थान खोले गए, उच्च शिक्षा के लिए डिजिटल लाइब्रेरी की स्थापना की। मोदी नई शिक्षा नीति लेकर आए हैं, उसको अमली जामा पहनाने के काम धर्मेंद्र प्रधान का है। मगर मुझे आनंद है कि योगी नई शिक्षा नीति को मोदी जी के स्प्रिट के हिसाब से यूपी की भूमि पर उतारने का काम कर रहे हैं।

अखिलेश के गढ़ में सेंध
2017 के विधानसभा चुनाव में जब पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर थी। उस समय भी आजमगढ़ ने भाजपा के विजय रथ को रोकने का काम किया था। 10 विधानसभा वाले इस जिले में भाजपा सिर्फ फूलपुर में जीत पाई थी। 2017 में पूरे प्रदेश में 81 ऐसी सीटें थी, जहां भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था। उनमें 9 सीटें आजमगढ़ की ही थीं।

ऐसे में 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा जिले की सभी सीटों को जीतना चाहती है। जिले में कई साल से यूनिवर्सिटी की मांग चल रही थी। ऐसे में इसका शिलान्यास कर जनता से कनेक्ट करने की कोशिश भाजपा ने की है।

खबरें और भी हैं…

.